चैंपियंस ऑफ चेंज अवार्ड - 2019 विजेता


इस प्रतिष्ठित पुरस्कार के निर्णायक मंडल के विशिष्ट सदस्यों ने "चैंपियंस ऑफ चेंज अवार्ड-2019" के इस संस्करण के विजेताओं के रूप में निम्नलिखित प्रकाशकों का चयन किया है..

 चैंपियंस ऑफ चेंज अवार्ड - 2019 विजेता


 

इस प्रतिष्ठित पुरस्कार के निर्णायक मंडल के विशिष्ट सदस्यों ने "चैंपियंस ऑफ चेंज अवार्ड-2019" के इस संस्करण के विजेताओं के रूप में निम्नलिखित प्रकाशकों का चयन किया है।

1. श्री हेमंत सोरेन (झारखंड के माननीय मुख्यमंत्री), समाज कल्याण

2. श्री मनीष सिसोदिया (माननीय दिल्ली के मुख्यमंत्री), शिक्षा

3. श्री अनुराग ठाकुर (माननीय राज्य वित्त और कॉर्पोरेट मामले), समाज कल्याण

4. श्री आचार्य बालकृष्ण (आयुर्वेद)

5. सुश्री शिल्पा शेट्टी और राज कुंद्रा (स्वच्छ भारत अभियान)

6. श्रीमती आई. दीपा वेंकट (समाज कल्याण), स्वर्णभारत ट्रस्ट, आंध्र प्रदेश।

7. श्री सुरेश ओबेरॉय और सिस्टर शिवानी (संस्कृति)

8. श्रीमती गीता कोड़ा (सांसद, लोकसभा), (आशावादी जिले)

9. श्री अल्लू अरविंद (सामाजिक कल्याण) - आंध्र प्रदेश

10. श्री टी. श्रीनिवास राव (समाज कल्याण), आंध्र प्रदेश

11. श्री सुरेश चुक्कापल्ली (स्वच्छ भारत अभियान), आंध्र प्रदेश

12. डॉ. अभिनव गुप्ता (स्वच्छ भारत) भोपाल मध्य प्रदेश

13. श्री अमित बुडानिया - (शिक्षा) (राजस्थान)

14. तनुज भाटिया (स्वास्थ्य सेवा), उत्तराखंड

15. श्री संजीव कुमार (स्वास्थ्य सेवा) नई दिल्ली

16. श्री अशोक सकरानी (स्वच्छ भारत अभियान) दिल्ली

17. श्रीमती उषा काकड़े (समाज कल्याण), महाराष्ट्र

18. श्री दिलीप कुमार (शिक्षा), दिल्ली

 

19. डॉ. पीसी रायलू (समाज कल्याण), कर्नाटक

20. श्री राकेश राठी (सामाजिक कल्याण), महाराष्ट्र

21. श्री प्रवीण दरयानी (सामाजिक कल्याण), महाराष्ट्र

22. श्री प्रसून मिश्रा (समाज कल्याण), उत्तर प्रदेश

23. श्री अभिनव सिंह - (समाज कल्याण), उत्तर प्रदेश

24. सुश्री अरुशी पोखरियाल (समाज कल्याण), आदर्श गंगा अभियान

-----------------------------------------------------------

 

चैंपियंस ऑफ चेंज अवार्ड के बारे में शब्द:

‘चैंपियंस ऑफ चेंज अवॉर्ड’ स्वच्छता, सामुदायिक सेवा और सामाजिक विकास (नीति आयोग द्वारा चुने गए भारत के आशावादी जिले) जैसे गांधीवादी मूल्यों को बढ़ावा देने के लिए एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट प्रोग्राम के परिवर्तन के तहत दिया जा रहा है जो जनवरी, 2018 में भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा सर्वाधिक आशावादी जिले घोषित किए गए थे।

इस अवॉर्ड के विजेताओं के चयन के लिए गठित अति उच्चस्तरीय समिति की अध्यक्षता भारतीय सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के जी बालकृष्णन को सौंपी गई है। वे एनएचआरसी के पूर्व अध्यक्ष भी रह चुके हैं। ‘चैंपियंस ऑफ चेंज अवॉर्ड’ अवॉर्ड सालाना चार श्रेणियों में दिया जाता है। इसका आयोजन विज्ञानभवन में और आमतौर पर राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, भारत के प्रधान मंत्री या एक अति प्रमुख हस्ती द्वारा दिया जाता है। ‘चैंपियंस ऑफ चेंज अवॉर्ड’ इंटरएक्टिव फोरम ऑन इंडियन इकोनॉमी नामक संस्था द्वारा प्रदान किया जाता है जिसके अध्यक्ष नंदन झा हैं। संस्था की नींव 2011 में संस्था के चेयरमैन नंदन झा की अध्यक्षता में रखी गई थी। संस्था ही 115 'आकांक्षात्मक' जिलों की प्रगति की पहचान करता है जिनके विकास की निगरानी नीति आयोग स्वत: करता है। 

पुरस्कार में एक प्रमाण पत्र और एक स्वर्ण पदक शामिल हैं।

भारत में 115 एस्पिरेशनल जिलों में रचनात्मक कार्य।

ग्रामीण विकास के लिए शिक्षा, हेल्थकेयर, विज्ञान और प्रौद्योगिकी का अनुप्रयोग।

महिलाओं और बच्चों के विकास और कल्याण के लिए उत्कृष्ट योगदान (115 आकांक्षात्मक जिले)

स्वच्छ भारत अभियान में उत्कृष्ट योगदान

भारत के बाहर गांधीवादी मूल्यों को बढ़ावा देने के लिए अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार।

जूरी के सदस्य: भारत के पूर्व मुख्य न्यायाधीश और पूर्व अध्यक्ष एनएचआरसी जस्टिस के जी बालाकृष्णन

जस्टिस ज्ञान सुधा मिश्रा (भारत की पूर्व सुप्रीम कोर्ट न्यायाधीश)

एस. वाई. कुरैशी (भारत के पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त)

पहलाज निहलानी (केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष)

सुभाष घई (वरिष्ठ भारतीय फिल्म निर्देशक)

 

2018 में यह चैंपियंस ऑफ़ चेंज अवार्ड्स पुरस्कार विजेता सम्मान समारोह विज्ञान भवन, नई दिल्ली में आयोजित हुआ जिसमें भारत के माननीय उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने पुरस्कार वितरित किए. इस वर्ष पुरस्कार के विजेता थे : मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह, रितु जायसवाल, डॉ. श्रीनुबाबू गेडेला, एसपी चम्बा डॉ. मोनिका, डॉ. सोहिनी शास्त्री (ज्योतिष) इत्यादि