विकास दुबे को दबिश की जानकारी देने पर पुलिस अधिकारी सस्पेंड


पुलिस सूत्रों से पता चला है कि विकास दुबे के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए लगभग 500 मोबाइल फोन की जांच की जा रही है।

विकास दुबे को दबिश की जानकारी देने पर पुलिस अधिकारी सस्पेंड


उत्तर प्रदेश पुलिस ने चौबेपुर पुलिस स्टेशन के स्टेशन अधिकारी विनय तिवारी को पुलिस छापे के बारे में गैंगस्टर विकास दुबे को कथित रूप से जानकारी देने के मामले में निलंबित कर दिया है। चौबेपुर थाना कानपुर जिले में है। गैंगस्टर और उसके गुर्गों से मुठभेड़ के दौरान गुरुवार रात 8 पुलिसकर्मियों की जान चली गई। कानपुर रेंज के इंस्पेक्टर जनरल मोहित अग्रवाल ने कहा कि तिवारी को निलंबित कर दिया गया क्योंकि उनपर आरोप लगे थे और साथ ही जांच जारी है।
अग्रवाल ने कहा कि अगर तिवारी या किसी और को दोषी पाया जाता है, तो उन्हें सेवा से समाप्त कर जेल भेज दिया जाएगा।
विकास दुबे को पकड़ने के लिए उत्तर प्रदेश और अन्य राज्यों में 25 से अधिक टीमें छापेमारी कर रही हैं। हालांकि, गैंगस्टर मुठभेड़ के 36 घंटे बाद भी भाग रहा है। पुलिस के सूत्रों ने कहा कि कुछ पुलिसकर्मियों से भी पूछताछ की जा रही है कि विकास दूबे को पुलिस की छापेमारी के बारे में पहले से पता कैसे चला।
कानपुर आईजी मोहित अग्रवाल ने विकास दुबे की जानकारी देने वाले को 50 हजार रुपये देने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि ऐसे व्यक्ति का नाम गुप्त रखा जाएगा।
पुलिस सूत्रों से पता चला है कि विकास दुबे के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए लगभग 500 मोबाइल फोन की जांच की जा रही है।

Recent Posts

Categories