रूस ने बनाई दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन, पुतिन की बेटी को टीका लगाया गया


पुतिन ने कहा कि ये टीका आवश्यक परीक्षणों से गुजरा है और इसके साथ ही इस वैक्सीन का पहला डोज़ उनकी दोनों बेटियों को दिया गया, जिसके बाद वह अच्छा महसूस कर रही है। उप स्वास्थ्य मंत्री ओलेग ग्रिडनेव ने आज वैक्सीन रजिस्ट्रेशन की बात कही थी।

रूस ने बनाई दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन, पुतिन की बेटी को टीका लगाया गया


कोरोना वैक्सीन विकसित करने की दौड़ के बीच, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कोरोना वायरस की वैक्सीन लॉन्च की है। यह घोषणा कोरोनोवायरस महामारी के मद्देनजर हुई, जिसने 20 मिलियन से अधिक लोगों को संक्रमित किया और दुनिया भर में लगभग 750,000 लोगों की जान चली गई, इस प्रकार ही इसने विश्व अर्थव्यवस्था को अपंग बना दिया।

Russia becomes first country to register COVID-19 vaccine

Read @ANI Story | https://t.co/wRyVyVlqrO pic.twitter.com/xC4DdXLZJl

— ANI Digital (@ani_digital) August 11, 2020

पुतिन ने कहा कि ये टीका आवश्यक परीक्षणों से गुजरा है और इसके साथ ही इस वैक्सीन का पहला डोज़ उनकी दोनों बेटियों को दिया गया, जिसके बाद वह अच्छा महसूस कर रही है। उप स्वास्थ्य मंत्री ओलेग ग्रिडनेव ने आज वैक्सीन रजिस्ट्रेशन की बात कही थी।

पुतिन ने कहा कि उनकी बेटी को जब पहला टीका दिया गया, तब उसका तापमान 38 डिग्री सेल्सियस (100.4 फ़ारेनहाइट) का था, और फिर अगले दिन यह घटकर केवल 37 डिग्री (98.6 फ़ारेनहाइट) पर आ गया। दूसरे शॉट के बाद उसे फिर से तापमान में थोड़ी वृद्धि हुई, लेकिन फिर यह सब खत्म हो गया। पुतिन ने कहा, "वह अच्छा महसूस कर रही है और एंटीबॉडी की उच्च संख्या है।"

मुराशको ने यह भी कहा कि कोरोनोवायरस के खिलाफ पहला रूसी टीका दो साइटों - गामालेया रिसर्च इंस्टीट्यूट और कंपनी बिन्नोफार्मा में उत्पादित होना शुरू हो जाएगी। रूस के स्वास्थ्य मंत्री मिखाइल मुराशको ने कहा कि देश में चिकित्सीय पेशेवरों को इस महीने टीका लगाया जा सकता है। वही रूस के उप प्रधानमंत्री तात्याना गोलिकोवा ने सितंबर में कोरोना वायरस के ‘औद्योगिक उत्पादन’ शुरू करने का वादा किया है। अगर रूस का दावा सही साबित होता है तो यह वैश्विक माहमारी की जंग में एक बड़ी सफलता होगी।

Recent Posts

Categories