पीएम मोदी ने लॉन्च किया टैक्स सिस्टम में सुधार के लिए 'ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन- ईमानदारों के लिए सम्मान'


पीएम मोदी ने कहा कि भारतीय कर प्रणाली में मौलिक सुधारों की आवश्यकता थी, प्रयास है कि कर प्रणाली को निर्बाध, दर्द रहित और फेसलेस बनाया जाए

पीएम मोदी ने लॉन्च किया टैक्स सिस्टम में सुधार के लिए 'ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन- ईमानदारों के लिए सम्मान'


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को सुबह 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ईमानदार करदाताओं को सम्मानित करने के लिए एक मंच का शुभारंभ किया। 'Transparent Taxation - Honoring the Honest' मंच का शुभारंभ प्रत्यक्ष कर सुधारों की यात्रा को आगे बढ़ाएगा।

India salutes then hardworking taxpayers. #HonoringTheHonest https://t.co/fRdqbcSIgt

— Narendra Modi (@narendramodi) August 13, 2020

पीएम मोदी ने कहा, "इस प्लेटफॉर्म में फेसलेस असेसमेंट, फेसलेस अपील और टैक्सपेयर्स चार्टर जैसे बड़े सुधार हैं। फेसलेस असेसमेंट और टैक्सपेयर्स चार्टर आज से लागू हो गए हैं, जबकि फेसलेस अपील सर्विस 25 सितंबर से उपलब्ध होगी।"

Our aim is to make the tax system:

Seamless.

Painless.

Faceless.

In order to achieve that, key reforms have been introduced. #HonoringTheHonest pic.twitter.com/dHbBTOBFW0

— Narendra Modi (@narendramodi) August 13, 2020

केंद्रीय वित्त और कॉर्पोरेट मामलों के मंत्री, निर्मला सीतारमण और वित्त और कॉर्पोरेट मामलों के राज्य मंत्री, अनुराग सिंह ठाकुर भी वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से लॉन्च में मौजूद थे।

एक बयान में कहा गया है कि इस आयोजन को आयकर विभाग के अधिकारियों और अधिकारियों के अलावा वाणिज्य, व्यापार संघों, चार्टर्ड अकाउंटेंट्स संघों और प्रख्यात करदाताओं के विभिन्न कक्षों द्वारा देखा गया।

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) की एक विज्ञप्ति के अनुसार, केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने हाल के वर्षों में कई बड़े कर सुधारों को अप्रत्यक्ष करों के रूप में अंजाम दिया है।

कोशिश ये है कि हमारी टैक्स प्रणाली Seamless हो, Painless हो, Faceless हो।

Seamless यानि टैक्स एडमिनिस्ट्रेशन, हर टैक्सपेयर को उलझाने के बजाय समस्या को सुलझाने के लिए काम करे।
Painless यानि टेक्नॉलॉजी से लेकर Rules तक सबकुछ Simple हो: PM @narendramodi #HonoringTheHonest

— PMO India (@PMOIndia) August 13, 2020

पिछले साल कॉरपोरेट टैक्स की दरों को 30 प्रतिशत से घटाकर 22 प्रतिशत कर दिया गया था और नई विनिर्माण इकाइयों के लिए दरों को घटाकर 15 प्रतिशत कर दिया गया था।

जहां Complexity होती है, वहां Compliance भी मुश्किल होता है।

कम से कम कानून हो, जो कानून हो वो बहुत स्पष्ट हो तो टैक्सपेयर भी खुश रहता है और देश भी।

बीते कुछ समय से यही काम किया जा रहा है।

अब जैसे, दर्जनों taxes की जगह GST आ गया: PM @narendramodi #HonoringTheHonest

— PMO India (@PMOIndia) August 13, 2020

सरकार ने लाभांश वितरण कर को भी समाप्त कर दिया है और कर सुधारों पर ध्यान केंद्रित कर दरों में कमी और प्रत्यक्ष कर कानूनों के सरलीकरण का काम किया है।

पीएम मोदी ने नए कर मंच के शुभारंभ के दौरान कहा कि ईमानदार करदाताओं ने राष्ट्रीय विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।  

पीएम मोदी ने कहा कि भारतीय कर प्रणाली में मौलिक सुधारों की आवश्यकता थी, प्रयास है कि कर प्रणाली को निर्बाध, दर्द रहित और फेसलेस बनाया जाए

एफएम सीतारमण ने कहा कि आयकर विभाग के अधिकारी हमारे सम्मान के पात्र हैं

 

 

Recent Posts

Categories