कृषि कानून के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन जारी, इंडिया गेट के पास जलाया ट्रैक्टर


किसानों और राजनीतिक दलों के लगातार विरोध के बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मॉनसून सत्र में संसद से पास किसानों और खेती से जुड़े बिलों पर अपनी सहमति दे दी।

कृषि कानून के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन जारी, इंडिया गेट के पास जलाया ट्रैक्टर


किसान कानून के खिलाफ प्रदर्शन की आग दिल्ली तक पहुंच गई है और इसी के चलते दिल्ली के इंडिया गेट पर किसानों ने ट्रैक्टर में आग लगा दी। पंजाब और हरियाणा के बाद किसानों का प्रदर्शन देश की राजधानी में संसद के बिल्कुल करीब तक पहुंच गया है। संसद के करीब इंडिया गेट पर किसानों ने टैक्टर में आग लगा दी, हालांकि प्रदर्शनकारियों को इक्कठा होने नहीं दिया गया। 

#JUSTIN: Tractor set on fire at India Gate, call received at 7.42 am. Seniors at spot. @IndianExpress, @ieDelhi pic.twitter.com/VZU5vZoG4T

— Mahender Singh Manral (@mahendermanral) September 28, 2020

दिल्ली में इंडिया गेट और आस-पास के वीआईपी इलाकों में धारा 144 लागू है और कोरोना वायरस के मद्देनजर लोगों को इकट्ठा होने की इजाजत नहीं है। पिछले दो हफ्तों से जिन किसान बिलों को लेकर संसद से सड़क तक लड़ाई छिड़ी थी, वो अब कानून बन गए, लेकिन राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद भी बिल को लेकर बवाल थमा नहीं है। किसानों के साथ कांग्रेस भी सड़कों पर है और कई कांग्रेसी नेता बिल को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साध रहे है। 

एक तरफ किसान सड़कों पर है, विपक्ष इस बिल को किसानों के साथ धोखा बता रहा है, लेकिन सरकार के मंत्री इस बिल को किसान हितैषी बताने में लगे हैं। किसानों और राजनीतिक दलों के लगातार विरोध के बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मॉनसून सत्र में संसद से पास किसानों और खेती से जुड़े बिलों पर अपनी सहमति दे दी।  किसान और राजनीतिक दल इस विधेयकों को वापस लेने की मांग कर रहे थे, लेकिन उनकी अपील किसी काम न आई और तीनों विवादास्पद बिल अब कानून बन गए हैं। अब देखना ये होगा कि आखिर विपक्ष कब तक सरकार को इस मुद्दे पर घेरेगा। 

Recent Posts

Categories