16 जिलों की 71 विधानसभा सीटों पर हुई वोटिंग, दिग्गजों की किस्मत ईवीएम में कैद


मतदान शुरू होने से पहले पीएम मोदी ने ट्वीट कर लोकतंत्र के इस पर्व में बढ़ चढ़कर भाग लेने की लोगों से अपील की। वहीं राहुल गांधी ने भी बिहार के पहले चरण के मतदान के लिए बिहार की जनता को शुभकामनाएं दीं।

16 जिलों की 71 विधानसभा सीटों पर हुई वोटिंग, दिग्गजों की किस्मत ईवीएम में कैद


बिहार विधानसभा चुनाव के लिए आज सुबह 7 बजे से मतदान शुरु हुआ, पहले चरण में 16 जिलों की 71 विधानसभा सीटों पर वोट डाले गये।  इन सीटों पर कई दिग्गजों की किस्मत दांव पर लगी है, पहले चरण के चुनाव में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी सबसे बड़े नेता हैं, जिनकी किस्मत ईवीएम में कैद हो गई।  पिछली बार मांझी इमामगंज और मखदुमपुर से लड़े थे, लेकिन मखदुमपुर से चुनाव हार गए थे।

इस बार फिर से मांझी ने इमामगंज सीट से ताल ठोकी है। यहां उनकी प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है, मांझी हिंदूस्तान आवाम मोर्चा (HAM) के अध्यक्ष हैं, पहले चरण के चुनावों में प्रेम कुमार और जय कुमार सिंह समेत 8 वर्तमान मंत्रियों की किस्मत भी दांव पर लगी हुई है। मतदान शुरू होने से पहले पीएम मोदी ने ट्वीट कर लोकतंत्र के इस पर्व में बढ़ चढ़कर भाग लेने की लोगों से अपील की। 

वहीं राहुल गांधी ने भी बिहार के पहले चरण के मतदान के लिए बिहार की जनता को शुभकामनाएं दीं। 

बिहार में पहले चरण के विधानसभा चुनाव में 71 सीचों पर चुनाव संपन्न हो चुका है, पहले चरण की वोटिंग शुरू होने के साथ ही महागठबंधन के सीएम उम्मीदवार तेजस्वी यादव ने भी लोगों से अपील की बदलाव के लिए अपने मत का प्रयोग करें। 

बिहार नें पहले चरण का रण खत्म हो चुका है, पहले चरण की जिन 71 सीटों पर मतदान हुआ है,  उनमें 25 पर राजद जबकि 23 पर जदयू और 13 पर भाजपा का कब्जा है। इन 71 सीटों में से 22 पर यादव विधायकों का कब्जा रहा था, जबकि राजपूत-7 भूमिहार-7 और कुशवाहा-7 सीटों पर चुने गए थे। अब फिलहाल पहले चरण के चुनाव के बाद इन उम्मीदवारों की किस्मत तो ईवीएम में कैद हो चुकी है और अब बिहार में दो चरणों का महासंग्राम बचा है। 243 सीटों वाली बिहार विधानसभा में दूसरे चरण का मतदान 3 नवंबर को और अंतिम चरण का मतदान 7 नवंबर को होगा, जिसके बाद 10 नवंबर को ये पता चल जाएगा कि बिहार में ऊंट किस करवट बैठेगा।

Recent Posts

Categories