किसानों ने 1 फरवरी को संसद मार्च किया रद्द; राष्ट्र से मांगी माफ़ी, लेकिन विरोध जारी रहेगा- योगेंद्र यादव


उन्होंने 1 फरवरी को नियोजित संसद मार्च को स्थगित करने की भी घोषणा की। वे 30 जनवरी को एक दिन का उपवास रखेंगे। मंगलवार को ट्रैक्टर परेड, जिसमें किसान यूनियनों की मांगों को उजागर करने के लिए तीन नए कृषि कानूनों को निरस्त करने के लिए शहर की सड़कों पर अराजकता फैलाई गयी, क्योंकि हजारों प्रदर्शनकारियों ने बाधाओं के माध्यम से तोड़ दिया, पुलिस के साथ संघर्ष किया, वाहनों को पलट दिया और एक धार्मिक झंडा प्रतिष्ठित लाल किले की प्राचीर से फहराया।

किसानों ने 1 फरवरी को संसद मार्च किया रद्द; राष्ट्र से मांगी माफ़ी, लेकिन विरोध जारी रहेगा- योगेंद्र यादव


प्रदर्शनकारी किसान नेताओं ने गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर परेड के दौरान राष्ट्रीय राजधानी में हिंसा के मद्देनजर तीन खेत कानूनों के खिलाफ 1 फरवरी को संसद में अपना पैदल मार्च स्थगित कर दिया है। स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने कहा कि वह क्षमाप्रार्थी हैं, लेकिन आंदोलन जारी रहेगा।यादव ने कहा, "मैं किसान मोर्चा की ओर से राष्ट्र से माफी मांगता हूं, लेकिन आंदोलन जारी रहेगा।"

यादव ने किसान मजदूर संघर्ष समिति और दीप सिद्धू को आर-डे हिंसा के लिए जिम्मेदार ठहराया। योगेंद्र यादव ने कहा, "हमने हिंसा के बाद सभी को लौटने के लिए कहा। किसान मजदूर संघर्ष समिति और दीप सिद्धू कल की हिंसा के लिए जिम्मेदार हैं। मैं सभी से दीप सिद्धू का सार्वजनिक रूप से बहिष्कार करने की अपील करता हूं।"

उन्होंने 1 फरवरी को नियोजित संसद मार्च को स्थगित करने की भी घोषणा की। वे 30 जनवरी को एक दिन का उपवास रखेंगे। मंगलवार को ट्रैक्टर परेड, जिसमें किसान यूनियनों की मांगों को उजागर करने के लिए तीन नए कृषि कानूनों को निरस्त करने के लिए शहर की सड़कों पर अराजकता फैलाई गयी, क्योंकि हजारों प्रदर्शनकारियों ने बाधाओं के माध्यम से तोड़ दिया, पुलिस के साथ संघर्ष किया, वाहनों को पलट दिया और एक धार्मिक झंडा प्रतिष्ठित लाल किले की प्राचीर से फहराया।

इस बीच, दिल्ली के पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने हिंसा में लिप्त दंगाइयों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा कि किसान नेताओं ने समझौते को "धोखा" दिया और खुद हिंसा में शामिल थे। श्रीवास्तव ने यह भी स्पष्ट किया कि पुलिस कार्रवाई के कारण कोई मौत नहीं हुई।

Recent Posts

Categories