केरल के किसानों को सरकार की तरफ़ से तोहफ़ा


केरल के किसानों के लिए एक अच्छी खबर है। दरअसल केरल के बाढ़ प्रभावित किसानों के लिए सरकार आगे फ़सल लगाने के लिए बीज मुहैया करवाएगी।

केरल के किसानों को सरकार की तरफ़ से तोहफ़ा


केरल के à¤•à¤¿à¤¸à¤¾à¤¨à¥‹à¤‚ के लिए एक à¤…च्छी खबर है। दरअसल केरल के बाढ़ प्रभावित किसानों के लिए à¤¸à¤°à¤•à¤¾à¤° à¤†à¤—े फ़सल लगाने के लिए बीज मुहैया करवाएगी।

बता दें ये बीज किसानों à¤•à¥‡ à¤ªà¥à¤¨à¤°à¥à¤µà¤¾à¤¸à¤¨ पैकेज का हिस्सा होंगो। राज्य में बाढ़ की वजह से à¤–रीफ़ फ़सलें तबाह हो गयी थीं। केरल के कृषि सचिव डीके सिंह ने बताया कि सभी प्रमुख फसलों में धान को सबसे ज़्यादा à¤¨à¥à¤•à¤¸à¤¾à¤¨ हुआ था। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अनुमानित करीब 2.45 लाख टन चावल के पैदावार का नुकसान हुआ।

साथ ही वे बोले à¤•à¤¿ किसानों को धान का बीज à¤¬à¤¾à¤‚टने के लिए 8,000 टन बीज खरीदने की ज़रूरत है। बाढ़ में नष्ट हुई दूसरी à¤«à¤¸à¤²à¥‹à¤‚ में केला, इलायची, गोल मिर्च, साबूदाना समेत सब्जियां और à¤•à¤‚द शामिल हैं। "क्षति अभूतपूर्व है, इसलिए हमलोग किसानों को इनपुट मुहैया करवाकर खेती की प्रक्रिया शुरू करने की योजना पर काम कर रहे हैं।"  उन्होंने कहा, "सूची में सबसे पहले बीज शामिल है। किसानों को बीज मुफ्त में दिया जाएगा। हम बीज तैयार करने वालों के संपर्क में हैं।"

कीटनाशक और उर्वरक की भूमिका तीन महीने बाद आएगी। इस समय बीजों की खरीद और बुवाई शुरू करना प्राथमिकता है।

केरल सरकार के अनुसार, बाढ़ में राज्य में चार लाख टन केले का नुकसान हुआ हैं। बता दें कि सरकारी अनुमान के अनुसार, 98,000 हेक्टेयर में लगी गोल मिर्च की फसल खराब हो गई है। साथ ही 35,000 हेक्टेयर में लगी इलायची, 365 हेक्टेयर कॉफी और 122 हेक्टेयर रबर की फसल को भी नुकसान हुआ है।

 

Recent Posts

Categories