सीबीआईसी के 15 वरिष्ठ अधिकारियों को जबरन किया रिटायर


मोदी सरकार का भ्रष्टाचार पर वार, सीबीआईसी के 15 वरिष्ठ अधिकारियों को जबरन किया रिटायर ..

 सीबीआईसी के 15 वरिष्ठ अधिकारियों को जबरन किया रिटायर


 

 

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार और रिश्वतखोरी पर तीखा प्रहार करते हुए भ्रष्टाचार और रिश्वतखोरी के मामले में लिप्त 15 अधिकारियों की छुट्टी कर दी है। जी हां वित्त मंत्रालय के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केन्द्रीय अप्रत्यक्ष कर व सीमा शुल्क बोर्ड  के 15 वरिष्ठ अधिकारियों को जबरन रिटायर किया है। ये अधिकारी सीबीआईसी के प्रधान आयुक्त, आयुक्त, और उपायुक्त के रैंक के हैं।

बता दें कि इन अधिकारियों को रिटायरमेंट अर्टिकल 56 के तहत  दिया गया है। वित्त मंत्रालय के सूत्रों की माने तो इन अधिकारियों के खिलाफ या तो पहले से ही सीबीआई की ओर से भ्रष्टाचार के मामले दर्ज थे या इन पर रिश्वतखोरी, जबरन वसूली व आय से अधिक संपत्ति रखने के आरोप हैं। इन सभी 15 अधिकारियों को सेवानिवृत्ति से पहले मिलने वाले वेतन और भत्तों के मुताबिक तीन महीने के वेतन व भत्ते दिये जाएंगे। 

 

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड और कस्टम विभाग के जबरन रिटायर किए गए अफसर हैं-

प्रिंसिपल कमिश्नर डॉ. अनूप श्रीवास्तव, कमिश्नर अतुल दीक्ष‍ित, कमिश्नर संसार चंद, कमिश्नर हर्षा, कमिश्नर विनय व्रिज सिंह, अडिशनल कमिश्नर अशोक महिदा, अडिशनल कमिश्नर वीरेंद्र अग्रवाल, डिप्टी कमिश्नर अमरेश जैन, ज्वाइंट कमिश्नर नलिन कुमार, असिस्टेंट कमिश्नर एसएस पाब्ना, असिस्टेंट कमिश्नर एसएस बिष्ट, असिस्टेंट कमिश्नर विनोद सांगा, अडिशनल कमिश्नर राजू सेकर डिप्टी कमिश्नर अशोक कुमार असवाल और असिस्टेंट कमिश्नर मोहम्मद अल्ताफ

 

दरअसल नियम संख्या 56 (जे) के तहत लोकहित में किसी भी सरकारी अधिकारी को उचित प्राधिकारी द्वारा तीन माह की नोटिस अवधि के साथ सेवामुक्त किया जा सकता है।हालांकि इससे पहले 10 जून को वित्त मंत्रालय ने भ्रष्टाचार के आरोप में लिप्त 12 वरिष्ठ अफसरों को अनिवार्य तौर पर रिटायर कर दिया। इन अफसरों में आयकर विभाग के चीफ कमिश्नर के साथ-साथ प्रिंसिपल कमिश्नर जैसे अधिकारी भी शामिल हैं।

पंचायती टाइम्स हमेशा से ही भ्रष्टाचार और रिश्वतखोरी के खिलाफ जनहित में जनजागृति फैलाने के उद्देश्य काम करता रहा है। उसी के प्रयासों का नतीजा है जो आज इतने बड़े स्तर पर भ्रष्टाचार पर तीखा प्रहार हुआ है। आगे हम देशहित में ऐसी ही खबरों का प्रसारण करते रहेंगे।

 

Recent Posts

Categories